Weight Loss and GYM Connection Myth: वजन घटाने के लिए जिम जाकर वर्कआउट

क्या आप Gym जाते हो ? क्या आपने ये ये अनुभव किया है की कुछ काम आने की वजह से, आपने Gym जाना बंद कर दिया तब आपका वजन पहले जितना या पहले से भी ज्यादा बढ़ गया ? तो आखिर क्यों होता है ऐसा ?

कई सालों कि रेसेअर्च और एक्चुअल एक्सपीरियंस से ये पता चला है की अगर वजन कम करना हो तो सिर्फ GYM जाने से कोई फायदा नहीं होता National institute ऑफ़ health के डॉक्टर kevin hall ने काफी बारीकी से research किया है exercise और मोटापा के बीच में क्या सम्बंद है ये जानने के लिए और क्या असल में अगर सिर्फ नियमित कसरत की जाए तो मोटापा कम हो सकता है ? Dr Kevin Hall कहते है, की कसरत या नियमित gym जाना ये एक मात्र साधन नहीं है मोटापा कम करने के लिए लेकिन अपनी अच्छी सेहत को बरक़रार या maintain रखने के लिए Gym जाना चाहिए जिस तरह से धूम्रपान छोड़ देना अपनी सेहत के लिए अच्छा है, उसी तरह से नियमित gym जाना अपनी सेहत के लिए अच्छा है नियमित व्यायाम करने से ज़रूर आप एक लम्बी और खुशहाल ज़िन्दगी बिता सकोगे लेकिन इसको एक मोटापा करने का साधन मान लेना नादानी होगी लेकिन , ये ऐसा क्यों कहते है , और क्या ये सही है, , ये जानने के लिए पहले हमें ये जानना होगा के हम जो भोजन करते है, उसे हमारा शरीर किस तरह से ऊर्जा में बदल देता है इस का सरल मतलब ये है की किस तरह से हमारा शरीर calories को burn करता है ? आपको ये जान कर हैरानी होगी की हमारी physical activity यानी की हमारी शारीरिक गतिविधि हमारे शरीर के calories burn करने का एक बहुत छोटा हिस्सा है

हमारा शरीर तीन प्रकार से calories को burn कर के हमारे शरीर को ऊर्जा energy प्रदान करता है पहला प्रकार है RESTING METABOLISM इसका मतलब ये है की हमारा शरीर जो रोज मर्रा की बेसिक एक्टिविटीज, जैसे के सांस लेना, थोड़ी बहुत हाल चाल जो दिन भर में होती रहती है और ऐसी ACTIVITIES जिसका हमें एहसास भी नहीं होता लेकिन उन ACTIVITIES की वजह से हमारा शरीर ठीक तरह से चलता है, तो इन सब ACTIVITIES को करने में जो CALORIES BURN होती है इस प्रक्रिया को RESTING METABOLISM कहा जाता है ये प्रक्रिया , हमारे शरीर की १००% में से ७०% CALORIES को USE कर लेती है अब बचे ३०% हमारे शरीर की १००% में से २०% CALORIES USE होती है हमारी पाचन क्रिया में , यानि के DIGESTION में तो अब बचे १०% CALORIES तो , शारीरिक गतिविधि या PHYSICAL ACTIVITY जैसे की कसरत करना GYM जाना, इस प्रकार की ACTIVITIES में हमारे शरीर की १००% में से सिर्फ १०% CALORIES BURN होती है इसका मतलब ये हुआ, के हम जो भी खाते है , हमारे शरीर की MAXIMUM CALORIES RESTING METABOLISM या BASAL METABOLISM में BURN होती है जिसके ऊपर आपका बहुत ही कम CONTROL है तो शरीर की १००% CALORIES में से सिर्फ १०% CALORIES पर आपका CONTROL होता है

एक STUDY से पता चला है की अगर एक २०० POUND का आदमी एक घंटा दौड़ लगाए, हफ्ते में चार दिन , एक महीने के लिए, तो वो तकरीबन ५ POUND वजन घटा सकता है , अगर उसका शरीर ठीक तरह से और NORMAL तरीके से REACT करें तो लेकिन, अक्सर हमारा शरीर हर पल एक जैसा नहीं रहता और एक जैसा REACT नहीं करता, RESEARCHERS ने ये ढूंड निकाला है की अक्सर जब हम किसी भी तरह की EXTRA PHYSICAL ACTIVITY जैसे के GYM जाना, दौड़ पर जाना या फिर ज़ोरदार EXERCISE करना, ये सब करते है तब हमारे शरीर और हमारे स्वभाव में कुछ प्रकार के फेर बदल होते है है जिसे कहा जाता है BEHAVIORAL और PHYSIOLOGICAL ADAPTATIONS ये फेर बदल क्या है और ये हमारे शरीर और हमारे मोटापे को किस तरह से प्रभावित करते है , चलिए हम देखते है, जब आप किसी भी तरह की जोरदार EXERCISE या GYM में HEAVY WORKOUT करते हो तब GYM से लौटने के बाद आपको बहुत भूक लगती है , राइट ?? तो अक्सर ऐसा होता है, की आप हर रोज के मुकाबले नाश्ते में एक परोठे के बजाय तीन परांठे खा लेते हो, ये भी साबित हो चूका है की , HEAVY WORKOUT के बाद हमारा शरीर PHYSICALLY SLOW DOWN हो जाता है से की अगर आपने सुबह उठ कर GYM में HEAVY WORKOUT किया हो या आप सुबह दौड़ लगाके आये हो, तो दिन भर में आपको सुस्ती लगेगी और अगर आपका OFFICE तीसरी मंज़िल पर हो तो आप सीढ़ियों की जगह लिफ्ट का इस्तेमाल करेंगे इस प्रकार के बर्ताव को COMPENSATORY BEHAVIOR कहा जाता है तो जैसे की आपने देखा, इस प्रकार से हम अपने सुबह के WORKOUT को खोकला कर देते है सिर्फ इतना ही नहीं , वैज्ञानिकों ने हमारे शरीर की ऐसी प्रक्रिया ढून्ढ निकाली है जिसे वो कहते है METABOLIC COMPENSATION जैसे जैसे हमारा वजन कम होता जाता है हमारा RESTING METABOLISM भी कम और धीमा होता जाता है पहले के मुकाबले हम कम और कम CALORIES BURN करने लगते है तो एक तरफ हम कसरत करते जाते है और दूसरी तरफ हमारा METABOLISM SLOW होता जाता है

2012 में एक काफी INTERESTING STUDY हुई थी कुछ RESEARCHERS STUDY करने आफ्रिका गए, AFRICAN आदिवासिओं में STUDY करने के लिए…. ये जानने के लिए के के किस तरह से ये सबसे तेज और स्फुर्तीले लोग अपने शरीर की CALORIES को BURN करते है जैसे की आप सब को पता है की AFRICAN आदिवासी लोग अपना दिन शिकार करने में और कठोर श्रम करके बिताते है, और ना की पूरा दिन COMPUTER के सामने एक कुर्सी पर बैठे इस प्रयोग का परिणाम जान कर वो दंग रह गए HERMAN PONTZER जो इस प्रयोग के LEAD RESEARCHER थे कहते है, भले ही AFRICA के आदिवासिओं की रोज मर्रा की ज़िन्दगी बहुत ही संघर्ष और शारीरिक श्रम से भरी है , लेकिन इसके बावजूद वो उतनी ही CALORIES BURN करते थे जितनी की एक व्यक्ति प्रति दिन दिन भर COMPUTER SCREEN के सामने बैठ कर BURN करता था तो आदिवासी ऐसा क्या अलग करते थे की वो हमारी जितनी ही CALORIES को BURN करने के बावजूद हमारी तरह मोटा ना होकर इतने दुबले पतले हो सकते है ? इसका जवाब है , वो OVER EAT यानी की वो पेट फटे उतना खाना नहीं खाते थे क्या आपको पता है की CALORIES BURN करने के लिए किया गया HEAVY WORKOUT को हम कुछ ही पलों में पूरी तरह से बेकार कर सकते है MCDONALDS में खाया हुआ एक BURGER और FRENCH FRIES को BURN करने के लिए आपको लगातार एक घंटा दौड़ना पड़ेगा अगर आपने दोस्तों के साथ बैठ कर दो गिलास COKE पी लिया हो तो आपको वो CALORIES BURN करने के लिए लगातार एक घंटे तक CYCLING करना पड़ेगा अगर आपने एक CAKE की PASTRY खायी हो तो आपको वो CALORIES को BURN करने के लिए डेढ़ घंटा SPEED WALKING करना होगा इस लिए दोस्तों , कसरत करना सेहत को MAINTAIN करने के लिए उपयोगी है और ना की मोटापा कम करने के लिए बल्कि कसरत आपको ACTIVE फुर्तीला और खुश मिजाज़ रखने के लिए इस्तेमाल करना चाहिए लेकिन दुःख की बात ये है की हमारे भारत देश में मोटापा एक बिमारी की तरह फ़ैल रहा है, ख़ास कर के हमारी युवा पीढ़ी में और वो इसलिए क्यूंकि MEDIA और ADVERTISING हर दम हमें BRAINWASH करता है ये दिखा कर की आप चाहे जितना भी FAST FOOD , BURGER , PIZZA खा लो और साथ में COKE या PEPSI की बड़ी बड़ी बोतले गटगटा जाओ कोई फ़िक्र नहीं, आप GYM में जा कर कसरत कर लेना और अपने शरीर को पतला और सुडोल बनाये रखना इन advertisement से इनकी COMPANIES खूब सारा पैसा कमाती रहेगी और GYM वाले पैसा कमाते रहेंगे और बेचारे हम मोटे के मोटे ही रह जाएंगे और DEPRESSION के शिकार हो जाएंगे आपने अक्सर देखा होगा के coke और PEPSI या कोई भी SOFT DRINK की ADS देख लो ये दिखते है की स्वस्थ HEALTHY और WELL BUILT लड़के लड़कियां और FILM STARS भी , लम्बी छलांग लगा रहे है, कोई पहाड़ पर चढ़ रहा है,तो कोई अपने MUSCLES को दिखा रहा है, और आसानी से COLD DRINK गटगटा रहा है , मानो वो COLD DRINK नहीं पानी हो, और सिर्फ इतना ही नहीं, ADS में तो ये भी कहा और दिखाया जाता है की पानी के बदले आप ये COLD DRINK पीओ तो दोस्तों , अब आप ही बताइये मोटापा कम कैसे होगा ??? हर बार आप एक COKE का CAN पीते हो तब आप अपने शरीर में करीब करीब दो सौ CALORIES को ADD कर देते हो…. और इस दो सौ CALORIES को BURN करने के लिए आपको SKIPPING ROPE या कूदने की रस्सी द्वारा लगातार बीस मिनट तक कूदना होगा…. सिर्फ एक CAN OF COKE के लिए अब आप ये कहेंगे की मैं तो सिर्फ DIET COKE पीती हूँ तो मुझे मोटापे का कोई खतरा नहीं लेकिन आपका ये मानना गलत होगा, DIET COKE या DIET PEPSI में ARTIFICIAL SWEETNER ASPARTAME होता है जो हमारे शरीर में जाते ही बहुत TOXIC बन जाता है और और बहुत सारी बीमारियाँ और यहाँ तक की CANCER भी हो सकता है ऐसे में हमें हमारी ऑंखें खोलनी चाहिए और ये समझना चाहिए की सिर्फ और सिर्फ कसरत करने से हम ये मोटापे की बिमारी को ख़तम नहीं कर सकते हमें हमारे रोज मर्रा के खान पान पर भी एक कड़ी नज़र रखनी चाहिए जब आप को भूक लगे या आपको कुछ खाने का मन कर रहा हो तब एक COKE की BOTTLE गटगटाने की बजाय या एक MACDONALD का BURGER खाने के बजाय अपने दिमाग से काम लीजिये और कुछ HEALTHY खाने की एक INTELLIGENT चॉइस कीजिये दोस्तों कसरत द्वारा आप अपना मोटापा कम कर सकते हो लेकिन ये बहुत ही ज्यादा कठिन और कष्टदायी है और बहुत मेहनत करनी पड़ेगी तो क्यों ना आप आसान तरीका अपनाये ?? आप कसरत भी करोगे तो आपको अलग अलग तरह की कसरत और अलग अलग प्रकार के व्यायाम करने पड़ेंगे तो इस सब से बहुत आसान है की आप अपने DIET पे नियंत्रण रखें अगर आपने GYM जाकर दो घंटे तक HEAVY WORKOUT किया और फिर शाम को दोस्त के साथ PARTY में कुछ DRINKS और तीन चार पकोड़े खा लिए तो आपका ये सुबह वाला GYM का WORKOUT बिलकुल ही FAIL हो गया